Welcome Guest! Login | Register

Patakare.com

Sushil Sharma

Sushil Sharma

Dr. Sushil Sharma

MCI Registration No.: MP-8977

Specialty: Internal Medicine

Fee: Rs.500.00

clinic:

Mall Road Infront Of Narcotics Office Morar,  Gwalior,  Madhya Pradesh

How to Reach

Call Us

Mob: 0751-4034881,8305524755

AVAILABILITY

Hospitals

Clinic

मुरार डायबिटीज एण्ड थायरॉयड क्लीनिक

 

 

डॉ. सुशील शर्मा
(एम.बी.बी.एस. , एम.डी. (मेडीसिन) 
डिप्लोमा (डायबिटीज) चैन्नई
डायबिटीज , हृदय, शवांस एवं पेट रोग विशेषज्ञ
चिकित्सक बिरला हॉस्पिटल, ग्वालियर)

 

परामर्श समय प्रतिदिन :- 
दोपहर:-1 .00 से 3.00 बजे | शाम 6.30 से 8.00 बजे तक
नंबर लगाने हेतु सम्पर्क करें :- 7000514120

 

पता :- नारकोटिक्स ऑफिस के सामने, जच्चा खाने के पास, माल रोड, मुरार, ग्वालियर (म.प्र)

Description

परामर्श करें :-

  • डायबिटीज/मधुमेह (शुगर) 
  • थायरॉयड विकार
  • मोटापा   
  • विटामिन डी एवं  कैल्शियम की कमी
  • कोलस्ट्रोल  की शरीर में ज्यादा मात्रा  होना 
  • उच्च रक्तचाप या घबराहट, बैचेनी महसूस होना
  • दमा , अस्थमा, स्वाँस 
  • पेट रोग, पेट में जलन एवं गैस बनना 
  • किडनी रोग, पेशाब में जलन होना
  • एलर्जी एवं सर्दी-जुकाम के कारण सिर में दर्द

 

मधुमेह- आहार के सामान्य नियम :-  मधुमेही रोगी के लिये आहार नियंत्रण इस बीमारी की चिकित्सा का सर्वाधिक महत्वपूर्ण हिस्सा है आहार नियंत्रण के निम्नलिखित उद्देश्य है :


 

इन उद्देश्यों की प्राप्ति के लिये निम्न आहार  नियमों का पालन करना चाहिये:-  मधुमेह रोगी को चाहिये कि खाना समय पर लेने का प्रयास करे ,दिन भर के भोजन के चार -पाँच हिस्सों मे ग्रहण करें, लम्बे समय तक भूखे न रहें एवंउपवास से बचें। मधुमेह कोनियंत्रण क रेशे युक्त भोजन पदार्थ ज्यादा महत्वपूर्ण होते हैं हरी पत्तेदार सब्जियाँ,सलाद, छिलके वाली दालें , चोकर युक्त आताअंकुरित अनाज, मैथीदाना, दलिया आदि में रेशा अधिक मात्रा में होता है, अत: इनका सेवन लाभदायाल है। सभी प्रकार के भोजन का सेवन किया जा सकता है। मधुमेह रोगी बताई गई मात्रा में चावल, पोहा आदि खा सकते है, मुख्यत: यह बात है कि कितनी मात्रा में अनाज का सेवन किया जायें।

 

  निर्देश - Hypoglycemia(Low Blood Sugar)हाईपोग्लाईसीमिया के लक्षण जैसे :-

  • चक्कर आना, कमजोरी महस् होना
  • कंपकंपी लगना,
  • धड़कन तेज होना,
  • जी मिचलाना,
  • धुंधला दिखाई देना, पसीना आना,
  • तेज प्यास और भूख लगना। आदि दिखाई देने रोगी को तुरन्त पानी , शक्कर या ग्लूकोज घोलकर पिलाये और डॉक्टर से सम्पर्क करें।

     

  मधुमेह के साथ जीवन के लक्ष्य :- 
 ब्लड शुगर :- 
 खाने के पहले          <100 mg/dl ग्लायकोसायलेटेड हीमोग्लोबिन   6% से कम
 खाने के 2 घंटे बाद.  <140 mg/dl ब्लड प्रेशर                               130/90
 लिपिड प्रोफाइल :- 
 टोटल कोलेस्ट्रॉल       <200 mg एल डी एल < 100m ट्राईग्लिसराईड <150m एच डी एल > 40mg

Total Visits: 25000